किराये का घर

किराये का घर : मुल्ला नसरुदीन कहानी Rent ka ghar : mulla nasruddin kahani comedy story hindi

 

दोस्तों ये बात उन दिनों की है जब मुल्ला नसरुदीन के पास रहने के लिए अपना कोई घर नहीं था, तो उन्होंने शहर मैं किराये के मकान मैं रहने का सोचा. तो वो शहर गए और उन्होंने मकान किराये पर ले लिया. जो मकान मुल्ला नसरुदीन ने किराये पर लिया था , वो एक बहुत ही पुराणी ईमारत मैं था.


ईमारत भी काफी सदियों पुराणी थी, लगभग १०० साल पुराणी तो होगी ही. मुल्ला नसरुदीन जी ने मकान मालिक से १० रुपए महीना मैं मकान किराये पर ले लिया. एक दिन की बात है जब मुल्ला जी रात को सो रहे थे तो उस रात को बहुत ही तेज हवा चल रही थी. उन्हें रात मैं चर चर और चीखने की जैसी आवाजे आ रही थी.

loading...



दो दिन के बाद जब मकान मालिक अपना किराया वसूलने के लिए मुल्ला नसरुदीन के पास आये , तो नसरुदीन ने उनसे कहा की आपकी ये निमरत अब बहुत ही खतरनाक हो गयी है, इसमें से तो अब डरावनी सी आवाजे भी आती है, चर चर जैसी. तो इस बात पर मकान मालिक ने मुल्ला नसरुदीन से कहा की ” चिंता की कोई भी बात नहीं है, ये ईमारत बहुत ही शक्तिशाली है और ये आवाजे तो ईमारत की प्रसंसा कर रही है और साथ ही इसके लिए गाना भी गा रही है.”


मुल्ला नसरुदीन ने कहा ,” ओहो, मैं किसी प्रकार के भजन की बात नहीं कर रहा हु बल्कि बात ये कर रहा हु की अगर ईमारत ने अपने घुटने निचे तक कर , पूजा करने का फैसला किया तो क्या होगा .”

One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!