Author: happysoch

जमीन मैं दफ़न एक प्रेत की रूह

जमीन मैं दफ़न एक प्रेत की रूह लोगो का कहना देखा जय तो एक दम से सत्य है की भोत प्रेत नहीं होते है. मैं भी पहले यही मानता था, लेकिन जब मेरा सामना खुद एक दिन प्रेत से हुआ . तब से मैं भी इस बात को मानने लग गया हु, की भूत प्रेत

ब्लैक मैजिक स्टोरी

ब्लैक मैजिक स्टोरी ये कहानी एक ऐसे इंसान की है जो की जंगल मैं एक हवेली मैं रहता था और लोगो का मानना ये था की वो रूह को बस मैं करके लोगो को परेशान किया करता था. दिनेश एक बुजुर्ग थे जो की शहर के किनारे पर एक जड़ित हवेली में अकेले रहते थे.

भूतो की हवेली घोस्ट स्टोरी

भूतो की हवेली घोस्ट स्टोरी ये कहानी बया करती है एक ऐसी हवेली के बारे मैं जो आज तक भी सुनसान पड़ी हुई है. लोग कहते है की वहा पर भूत पिसाच बास्ते है. वहा जो गया , वो कभी जिन्दा लौटकर वापिस नहीं आया. यहाँ से नज़दीक कुछ 250 मीटर की दुरी पर एक

कहानी भूतिया होटल की घोस्ट स्टोरी

कहानी भूतिया होटल की घोस्ट स्टोरी ये दास्ताँ है एक ऐसे होटल की जो कई वर्षो स्वे बंद ही पड़ा हुआ है. लोगो का ऐसा मानना है की इस तरह से बंद पड़े होटल मैं भूतो का वास् हो गया था. शायद इस आभा के बारे में कुछ ऐसा लगता है जो हॉट डिजिट को

भूत का रहस्य घोस्ट स्टोरी

भूत का रहस्य घोस्ट स्टोरी ये बात है लगभग दस साल पुरानी, जब मैं अपनी दीदी के यहाँ पर गया हुआ था. मेरा नाम पंकज है और मैं मेरठ का रहने वाला हु. कल जब मैं अपनी सुधा दीदी से मिलने गया था तो उन्होंने बताया की उस रहस्य का कारण क्या था और समाधान

औरत की अनोखी दास्ताँ

औरत की अनोखी दास्ताँ मध्य प्रदेश राज्य मैं देवगढ़ नामक एक नगरी हुआ करती थी. उस नगरी मैं देवरती नाम के राजा का राज हुआ करता था. उसके सूरज नाम का दीवान था. एक दिन दीवान ने कहा, एक मन्दिर बनवाकर देवी को बिठाकर पूजा की जाए तो बड़ा पुण्य मिलेगा. राजा ने ऐसा ही

अनजान घटना

अनजान घटना वैसे तो मैं भूत प्रेतों पर विश्वास नहीं करता हु, लेकिन इनकी किताबे और इनके बारे मैं जानने का मुझे बेहद ही शोक है. मैं रातो को इन्हे के बारे मैं सोचता हु और सपने मैं भी इन्हे ही देखता हु. मेरा नाम सौरभ गुप्ता है. मेरी उम्र लगभग उस दौरान 21 साल

आलस करना बुरा है

आलस करना बुरा है वैसे तो दुनिया मैं भिन्न भिन्न प्रकार के इंसान रहते है, लेकिन कुछ ऐसे भी है जो की बहुत ही आलसियों की गिनती मैं आते है. जैसे की हमारे प्रिय दोस्त मिस्टर नितिन चौरसिया. इनका तो यहाँ तक मानना है की कुछ ना करने से भी बहुत कुछ प्राप्त हो जाता

घोडा घंटी वाला मोटिवेशनल कहानी

घोडा घंटी वाला मोटिवेशनल कहानी बहुत समय पुरानी बात है. उत्तर प्रदेश के जिले सहारनपुर के एक गांव जैनपुर मैं एक किशोर नाम का एक जुलाहा रहा करता था. वह बहुत गरीब था. उसकी शादी बचपन में ही हो गई ती. बीवी आने के बाद घर का खर्चा बढना था. यही चिन्ता उसे खाए जाती.

वो स्थान जहा बस्ते है भूत

वो स्थान जहा बस्ते है भूत Wo sthan jahaa baste hai bhoot ये दास्ताँ एक ऐसे कॉलेज की है. जहा पर लोगो का ये मानना है की वहा पार भूतो के अलावा किसी और का वास् ही नहीं है. यानी की वहा पर भूत ही भूत बास्ते है. एक कॉलेज के परिसर में पूर्व हॉल
error: Content is protected !!