Author: happysoch

कड़वी बहु की कहानी मोटिवेशनल कहानी

कड़वी बहु की कहानी मोटिवेशनल कहानी ये कहानी है एक कड़वा बोलने वाली बहु की, जो की बड़ी ही अनोखी कहानी है. कल्याणी के बहु बेटे शहर में बस चुके थे लेकिन उसका गाँव छोड़ने का मन नहीं हुआ इसलिए अकेले ही रहती थी. वह रोजाना की तरह मंदिर जा कर आ रही थी. रास्ते

कहानी चचेरे भाई के रिश्ते की

कहानी चचेरे भाई के रिश्ते की चचेरे भाई के लिए रिश्ते की बात चल रही थी. लड़की वालों के यहाँ जाने से पहले बिचोले द्वारा लाई लड़की की तस्वीर को देखा जा रहा था. सबके बीच चाची को वहां न पाकर मुझे बहुत अजीब सा लगा. सारी बागडोर संभालने का जिम्मा बुआ जी लिए बैठी

जब हो गयी बेटी नाराज

जब हो गयी बेटी नाराज आपके लिए पेश है एक अध्भुत बाप और बेटी की कहानी. जो सायद अपने कभी सुनी ही नहीं होगी. इसलिए ही तो हम आपके लिए आज लाये है ये अध्भुत बेटी की कहानी. पापा जाने लगे जब ऑफिस, बेटी जिद पर अड़ी रही, एक्टिवा के लिए, वो भी आज पापा

गोलगप्पे की कहानी

गोलगप्पे की कहानी पाँच साल की बेटी बाज़ार में गोल गप्पे खाने के लिए मचल गई. “किस भाव से दिए भाई?” पापा नें सवाल् किया. “10 रूपये के 8 दिए हैं. गोल गप्पे वाले ने जवाब दिया. पापा को मालूम नहीं था गोलगप्पे इतने महँगे हो गये है,जब वे खाया करते थे तब तो एक

एक कॉमेडी कविता

एक कॉमेडी कविता आज मैं आपको एक अनोखी और अदुभुत कॉमेडी कहानी सुनाने जा रहा हु दोस्तों. इसे सुन आपका भी मन ख़ुशी से नाचने लग जायेगा. सायद अपने कभी ऐसी कॉमेडी कविता या फिर कहानी नहीं सुनी होगी. तो पेश-ए-खिदमत है एक हास्य कविता. एक दिन दफ्तर से घर आते हुए पुरानी गर्ल फ्रेंड

हैरान कर देने वाली अध्भुत कहानी

हैरान कर देने वाली अध्भुत कहानी आज मैं आपको एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहा हु. जिसके बारे मैं आपने कभी भी सुना नहीं होगा. ये एक ऐसी इंसान की कहानी है, जो की आइस फैक्ट्री मैं का किया करता था. उसके साथ क्या और कैसे हुआ ये ही कहानी का असली मजा है जो

भटकती आत्मा की दास्ताँ

भटकती आत्मा की दास्ताँ मेरे दोस्तों अपने हमेशा ही परेशान इंसान के बारे मैं तो सुना होगा लेकिन क्या अपने कभी परेशान आत्मा के बारे मैं भी सुना है. अगर नहीं तो मैं आज आप लोगो को एक बहुत ही परेशान आत्मा की एक कहानी सुनाने जा रहा हु. यह कहानी एक गांव की है

होमवर्क है या कोई सीखः

होमवर्क है या कोई सीखः साउथ के एक स्कूल ने अपने बच्चों को छुट्टियों का जो एसाइनमेंट दिया. वो पूरी दुनिया में वायरल हो रहा है. वजह बस इतनी कि उसे बेहद सोच समझकर बनाया गया है. इसे पढ़कर अहसास होता है कि हम वास्तव में कहां आ पहुंचे हैं और अपने बच्चों को क्या

स्त्री प्रेम की दास्ताँ

स्त्री प्रेम की दास्ताँ दोस्तों आज हम आपको स्त्री प्रेम के बारे मैं आपको बताएँगे. हम स्त्री प्रेम से आपको रूबरू करेंगे. क्योकि आज के कलयुग मैं मानव ने स्त्री को मात्र प्रयोग करने की सामग्री ही मान लिया है. पुरुष का मानना है की स्त्री तो केवल एक प्रयोग की जाने वाले चीज़ मात्र

बच्चों को यौन शोषण से कैसे संरक्षण प्रदान करें

बच्चों को यौन शोषण से कैसे संरक्षण प्रदान करें आज हम आपको बच्चो पर होने वाले अपराधों और उन अपराधों से बचने वाले प्रावधानों को आसानी तौर से बतायेगे. क्योकि आज के बढ़ते हुए युग मैं बाचो के प्रति अपराध अत्यधिक मात्रा मैं बढ़ते ही जा रहे है. हमे अब सचेत होना ही पड़ेगा और
error: Content is protected !!