Category: HINDI GHOST STORY

वो स्थान जहा बस्ते है भूत

वो स्थान जहा बस्ते है भूत Wo sthan jahaa baste hai bhoot ये दास्ताँ एक ऐसे कॉलेज की है. जहा पर लोगो का ये मानना है की वहा पार भूतो के अलावा किसी और का वास् ही नहीं है. यानी की वहा पर भूत ही भूत बास्ते है. एक कॉलेज के परिसर में पूर्व हॉल

रक्षा करने वाला भूत

रक्षा करने वाला भूत Raksha kaarne wala bhoot वैसे तो अपने दोस्तों हमेशा से ही भूतो को नुकसान पहुंचाने की बात सुनी होगी. लेकिन क्या आपने कभी भी ऐसा कुछ सुना है की कोई भूत नुस्क्सान नहीं पहुंचाता, बल्कि अपने गांव के लोगो की रक्षा करता है. जी हां आज मैं आपको एक ऐसे ही

जब मिली भूत को सजा

जब मिली भूत को सजा Jab mili bhoot ko saja आज मैं आपको एक गांव की बात बताने जा रहा हु, जिमे एक बार भूत का साया आ जाता है और फिर क्या होता है उस गांव मैं, ये हम इस कहानी मैं देखेंगे. बात तब की है जब भगिया काका गबड़ू जवान थे. भगिया

जब मौत बोले हेलो

जब मौत बोले हेलो Jab maut bole hello वैसे तो अपने कई प्रकार के भूतो की कहानिया सुनी होगी, लेकिन क्या अपने कभी मोबाइल वाले भूत यानी की प्रेत की कहानी कभी सुनी है. अगर नहीं सुनी है तो आज मैं आपको इसके बारे मैं बताने जा रहा हु. इसमें होता ये है की आपके

जब मैं मिला भूतो से

जब मैं मिला भूतो से Jab main mila bhooto se ये आप बीती दास्ताँ है डॉक्टर राकेश शर्मा की , जो की एक बार बंगलौर से दिल्ली आ रहे थे. उन दिनों वे बंगलौर सदर अस्पताल में पदस्थापित थे. एक रोज की बात है. अस्पताल से रात करीब 1 बजे घर लौटे थे. तेज़ बारिश

हॉस्पिटल मैं दिखी चुड़ैल

हॉस्पिटल मैं दिखी चुड़ैल Hospital main dikhi chudel मैं आज आपको अपने साथ घटित एक अहम् घटना के बारे मैं बताने जा रहा हु. मेरा नाम विनीत है और मैं दिल्ली का रहने वाला हु. मैं आपसे जिस हॉस्पिटल की बात कर रहा हु , वो एक भूतिया हॉस्पिटल है. यहाँ के लोगो का ऐसा

ऐसा स्कूल जहाँ घूमती है लड़की की आत्मा

ऐसा स्कूल जहाँ घूमती है लड़की की आत्मा Aisa school jahaa ghumti hai ladki ki aatma आज एक ऐसे स्कूल के बारे मैं मैं आपको बताओगे. जहा पर कई वर्षो पहले एक लड़की की मौत हो चुकी थी. लेकिन उसका लगाव उस स्कूल से इतना था की मरने के बाद भी उस लड़की की आत्मा

सुनहरी आत्माओ का जंगल

सुनहरी आत्माओ का जंगल Sunhari aatmao ka jungle बहुत साल पुराणी बात है. जब मैं लगभग 15 साल का था. ये घटना मैंने अपने दादी जी से सुनी थी. रामपुर गाँव के 9-10 लोगों की एक मंडली दर्शन हेतु एक माता मंदिर में गई थी. माता का यह मंदिर एक जंगल में था पर आस

कमरा नंबर 302 मैं चुड़ैल का साया

कमरा नंबर 302 मैं चुड़ैल का साया Room number 302 main chudel ka saya मेरा नाम नंदनी है और आज मैं आपको कमलेश की बहन राधा और उसकी साली रोहिणी की एक दास्ताँ के बारे मैं कुछ बताना चाहती हु. कुछ दिनों पहले कमलेश ने मुझे बताया था कि उसकी बहन की मौत हो गयी

निर्ण भूतनी की कथा

निर्ण भूतनी की कथा Nirn bhootni ki katha दोस्तों ये कहानी भूतनी पर आधारित है. आप इन्हे प्रेतनी भी कह सकते है.पहले तो मैं भी किसी भूत प्रेत पर विश्वास नहीं करता था, लेकिन ऐसा वाकया हुआ जिसका मैं गवाह हु. क्या हुआ था आज मैं आपको बताओगे. आज के वैज्ञानिक युग में भूत-प्रेत और
error: Content is protected !!