कांच बिंदु का इलाज

कांच बिंदु का इलाज kanch bindu ka ilaj, health tips in hindi

कांच बिंदु आँखों से सम्बंधित रोग होता है. ये कई तरहों से फैलता है. कांच बिंदु रोग नेत्र तंतु की गंभीर एवं निरंतर बढ़ती हुई क्षति द्वारा धीरे-धीरे दृष्टि को नष्ट कर देता है. जब हम वस्तु को देखते हैं, छवि दृष्टि पटल से मस्तिष्क तक नेत्र तंतु द्वारा पहुंचाई जाती है. कांच बिंदु में अंत:नेत्र दाब प्रभावित आँख की सहने की क्षमता से अधिक हो जाता है. इसके परिणामस्वरूप नेत्र तंतु की क्षति होती है जिससे दृष्टि चली जाती है. वस्तु को देखते समय कांच बिंदु वाले व्यक्ति को केवल वस्तु का केन्द्र दिखाई देता है. समय बीतने के साथ व्यक्ति यह क्षमता भी खो जाता है.

सामान्यत:,लोग इस पर कदाचित ही ध्यान देते हैं जबतक कि काफी क्षति न हो गई हो. अक्सर कांच बिंदु बिना किसी लक्षण के विकसित होता है इसे “नज़र का चुपके से आने वाला चोर” के रूप में संदर्भित किया जाता है. विश्व स्तर पर कांच बिंदु लगभग छह करोड़ लोगों को प्रभावित करता है और भारत में यह अंधत्व का दूसरा सबसे आम कारण है. करीब एक करोड़ भारतीय कांच बिंद से पीड़ित हैं जिनमें से 1.5 लाख नेत्रहीन हैं. कांच बिंदु आमतौर पर दोनों आँखों को प्रभावित करता है. हालाँकि आमतौर पर यह 40 वर्ष से अधिक आयु के वयस्कों के बीच में पाया जाता है, यह नवजात शिशुओं को भी प्रभावित कर सकता हैं.

कांच बिंदु होने के कारण eye problem

1.घरेलू चोट लगने की घटनाएं

2.फसल उगाना एवं कटाई

3.जलाने की लकड़ी काटना एवं चीरना

4.जलती हुई लकड़ी के उड़ती चिंगारियों के कण

5.खाना बनाते लौ या भाप लगने से

6.कीड़े के डंक या काटने से

7.धूल कण (बाह्य वस्तु)

8.औद्योगिक

9.धातु कण (बाह्य वस्तु)

10.जलते हुए कण

11.लौ या भाप

12,चेहरे का विदारण

13.रासायनिक पदार्थ से जलना

14.दुर्घटनाएं

15.वाहनों से टूटे कांच

16.गिरने की वजह से चोटें

17.तेज या भोथरी वस्तुओं का अंदर घुसना

18.रसायन से जलना

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

क्या सावधानिया बरते

1.रसायन से जलने पर तत्काल प्राथमिक उपचार आवश्यक होता है.

2.जितना जल्द सम्भव हो, उतना जल्द, कम से कम पाँच मिनट तक अपना चेहरा, पलकें एवं आँखे धोयें.

3.आंखों के आंतरिक कोने में अधिक पानी डालें. सुनिश्चित करें कि रसायन दूसरी आँख में न जाए. आंखों को सूखी, साफ सुरक्षित ड्रेसिंग पट्टी से ढ़ंकें,

4.मरीज़ आँख न रगड़े, इस बात के लिए उसे सतर्क करें.

5.तुरंत चिकित्सा सहायता लें.

6.नरम पैड लगाएं, आंखों को ढकें तथा मरीज़ को तुरंत अस्पताल ले जाएं.

कांच बिंदु का उपचार kanch bindu ka upchar

1.आँखों को रगड़ने से बचें. बच्चों के मामले में, यदि वे आज्ञा का पालन नहीं करते हैं तो उनके हाथ पीठ पीछे बांध दे.

2.नम संकीर्ण फोहे या रूमाल के मुड़े कोने से बाह्य वस्तु को चमकदार रोशनी में निकालें.

3.यदि बाह्य वस्तु दिखाई नहीं दें, हाथ में कुछ साफ पानी लें एवं उसमें तेज़ी से पलके झपकाएं.

4.यदि फिर भी असफल होते हैं, उपरी पलक को आगे की ओर खींचें, निचली पलक को ऊपर धकेलें तथा दोनों पलको को छोड़ दें. निचली पलकों के बाल अक्सर बाह्य वस्तु को निकाल देतें हैं.

5.यदि बाह्य वस्तु कॉर्निया में धंसी हो, नरम पैड/गद्दी लगायें, आंखों को ढकें एवं मरीज को तुरंत अस्पताल लें जाएं.

हम ये बिलकुल भी नहीं चाहेंगे की आपको किसी भी तरह की कोई भी परेशानी हो, इसलिए हम आपको सदा ही ऐसे घरेलु उचार देना चाहेंगे , जो की आपको अत्यधिक लाभ दे. ताकि आप एलोपेथी दवाईयों का इस्तेमाल कम से कम करे. क्योकि एलोपेथी दवाईयां हमारी बीमारी को तो ठीक कर देती है लेकिन ये हमारे शरीर को काफी मात्रा मैं नुकसान भी पहुँचती है. इसलिए हमे इन दवाइयों को ज्यादा से ज्यादा अवाइएड करना चाहिए यानि की कम से कम ही इन्हे खाना चाहिए. तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताती गयी जानकारी किसी लगी हमे जरूर बताये. ताकि हम आपको अधिक से अधिक जानकारिया उपलब्ध कराये.

ये जो उपचार हमने आपको बताये है, ये आपके लिए काफी फायदेमंद है, लेकिन हम आपसे ये अनुरोध करते है की जो कुछ भी जानकारी हमने आपको दी है. उसे अपनी लाइफ मैं इस्तेमाल करने से पहले कम से कम एक बार हम ये चाहेंगे की आप अपने डॉक्टर की सलहा जरूर ले क्योकि हमे नहीं पता है की आपकी बॉडी यानी की आपका शरीर घरेलु उपचारो को अब्सॉर्वे करता है या नहीं करता है. इसलिए इन्हे प्रयोग करने से पहले एक बार अपने नजदीकी या फिर अपने घरे डॉक्टर की रॉय जरूर ले.

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!