कैसे कहु अपने दिल की बात लव स्टोरी

कैसे कहु अपने दिल की बात लव स्टोरी

दोस्तों मैं आपको अपनी जिंदगी की एक सच्ची घटना के बारे मैं बताने जा रही हु. जिसे सोच मैं आज भी बड़ा ही अफ़सोस करती हु की सायद ये काम मैं उस समय कर लेती , तो मेरे साथ ऐसा कभी भी ना होता. मेरा नाम रेशमा सिन्हा है और मैं जिला लखनऊ उत्तर प्रदेश की रहने वाली हु. मैं बीटेक फाइनल ईयर मैं थी. जब मुझे उससे प्यार हो गया था उस लड़के का नाम रोहन था और वो भी लखनऊ का ही रहने वाला था. कैसे और क्या हुआ वो अब मैं आपको अपनी इस एक छोटी सी लव स्टोरी मैं बताने जा रही हु.

बात उन दिनों की है जब हम एक दूसरे के बहुत ही नजदीक आ गए थे. तब हम कॉलेज की और से एक पिकनिक स्पॉट पर घूमने के लिए गए हुए थे. मैं उसे अपने दिल की बात नहीं कहे पायी और कॉलेज एन्ड होने के बाद हम दोनों एक दूसरे से अलग हो गए थे. इन 8 सालों में ज़िंदगी इतनी बदल गई पर उसके बिना जीना नहीं सीखा पायी. आज भी मैं चाहती हूं कि 8 साल वापस जाकर अपनी ज़िंदगी के वो हसीन पल फिर से उसके साथ जी लूं. वो लम्हे अभी भी मेरे जेहेन में कायम हैं.

मैं उसे पसंद करने लगी थी. एक दिन मैंने उसे अपनी दिल की बात कह दी, बस वही हमारी आखिरी मुलाकात थी और उसके बाद उसने धीरे-धीरे मुझसे बात करना छोड़ दिया. पर अभी भी जब मन बहुत बेचैन होता है और उसकी यादें मुझे परेशान करने लगती हैं, तो उसे फोन करती हूं पर वो कभी भी मेरा फोन नहीं उठाता. उसके साथ मैंने अपनी फीलिंग्स क्या शेयर की, वो मुझसे बहुत दूर चला गया.

ज़िंदगी तुम्हारे बिना अधूरी है, लौट आओ. तुम्हे मैं नही भूला पा रही. मैं अब क्या केरु और कैसे रोहन को अपने दिल की बात उस तक पहुचाओ. मैं ये बिलकुल भी नहीं समझ पा रही हु. क्या कोई मेरी इस बारे मैं हेल्प कर सकता है.

loading...
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!