जाने कुछ महत्वपूर्ण बातें

जाने कुछ महत्वपूर्ण बातें

हमे इन बातो को जानना बहुत ही जरूरी होता है, हम जानते तो है की ये सब हमे करना चाहिए. लेकिन क्यों सायद ये नहीं जानते. इसलिए आज हम आपको ये सब बताने जा रहे है. की ये सब हम क्यों करते है, जाने इनके बारे में.

1. तुलसी के पेड़ की पूजा tulsi ped ki pooja

तुलसी की पूजा करने से घर में समृद्धि आती है. सुख शांति बनी रहती है.

वैज्ञानिक तर्क vegyanik tark

तुलसी इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है. लिहाजा अगर घर में पेड़ होगा, तो इसकी पत्तियों का इस्तेमाल भी होगा और उससे बीमारियां दूर होती हैं.

2. माथे पर कुमकुम का तिलक mathe par kukum ka tilak

महिलाएं एवं पुरुष माथे पर कुमकुम या तिलक लगाते हैं.

वैज्ञानिक तर्क VEGYANIK TARK

आंखों के बीच में माथे तक एक नस जाती है. कुमकुम या तिलक लगाने से उस जगह की ऊर्जा बनी रहती है. माथे पर तिलक लगाते वक्त जब अंगूठे या उंगली से प्रेशर पड़ता है, तब चेहरे की त्वचा को रक्त सप्लाई करने वाली मांसपेशी सक्रिय हो जाती है. इससे चेहरे की कोशिकाओं तक अच्छी तरह रक्त पहुंचता है.

3. पीपल की पूजा papal ki pooja

तमाम लोग सोचते हैं कि पीपल की पूजा करने से भूत-प्रेत दूर भागते हैं.

वैज्ञानिक तर्क VEGYANIK TARK

इसकी पूजा इसलिये की जाती है, ताकि इस पेड़ के प्रति लोगों का सम्मान बढ़े और उसे काटें नहीं. पीपल एक मात्र ऐसा पेड़ है, जो रात में भी ऑक्सीजन प्रवाहित करता है.

4. एक गोत्र में शादी क्यूँ नहीं ek gotar me shaadi kyu nahi

एक अमेरिकी वैज्ञानिक ने कहा की जेनेटिक बीमारी न हो इसका एक ही इलाज है और वो है “सेपरेशन ऑफ़ जींस”. मतलब अपने नजदीकी रिश्तेदारो में विवाह नही करना चाहिए. क्योकि नजदीकी रिश्तेदारों में जींस सेपरेट (विभाजन) नही हो पाता और जींस लिंकेज्ड बीमारियाँ जैसे हिमोफिलिया, कलर ब्लाईंडनेस, और एल्बोनिज्म होने की 100% चांस होती है . आखिर हिन्दूधर्म में हजारों सालों पहले जींस और डीएनए के बारे में कैसे लिखा गया है . जो “विज्ञान पर आधारित” है . हिंदुत्व में कुल सात गोत्र होते है और एक गोत्र के लोग आपस में शादी नही कर सकते ताकि जींस सेपरेट (विभाजित) रहे.

5. सूर्य नमस्कार sun namaskar

हिंदुओं में सुबह उठकर सूर्य को जल चढ़ाते हुए नमस्कार करने की परम्परा है.

वैज्ञानिक तर्क VEGYANIK TARK

पानी के बीच से आने वाली सूर्य की किरणें जब आंखों में पहुंचती हैं, तब हमारी आंखों की रौशनी अच्छी होती है.

दीपक के ऊपर हाथ घुमाने का वैज्ञानिक कारण Deepak ke upar hath ghumane ka vegyanik karan

आरती के बाद सभी लोग दिए पर या कपूर के ऊपर हाथ रखते हैं और उसके बाद सिर से लगाते हैं और आंखों पर स्पर्श करते हैं. ऐसा करने से हल्के गर्म हाथों से दृष्टि इंद्री सक्रिय हो जाती है और बेहतर महसूस होता है.

6. मंदिर के बाहर चप्पल क्यों उतारते हैं mandir ke bahar chapel kyu utarte hai

मंदिर में प्रवेश नंगे पैर ही करना पड़ता है, यह नियम दुनिया के हर हिंदू मंदिर में है. इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि मंदिर की फर्शों का निर्माण पुराने समय से अब तक इस प्रकार किया जाता है कि ये इलेक्ट्रिक और मैग्नैटिक तरंगों का सबसे बड़ा स्त्रोत होती हैं. जब इन पर नंगे पैर चला जाता है तो अधिकतम ऊर्जा पैरों के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर जाती है.

loading...
One Comment

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!