जुर्म के सबक की अनोखी मोटिवेशनल कहानी

जुर्म के सबक की अनोखी मोटिवेशनल कहानी

Jurm ke sabak ki anokhi motivational kahani in hindi

ये कहानी जुर्म से सम्बंधित है, और कोर्ट कचहरी से भी सम्बंधित है. एक ऐसा जुर्म जो की एक इंसान ने एक महिला के साथ किया था. जिसे हम “रेप” के नाम से जानते है. बहुत ही घिनोना जुर्म माना जाता है ये हमारे समाज में. तो आये अब कहानी की और बढ़ते है. अदालत के कटघरे मे खड़ी थी 21 वर्षीय युवती दीक्षा, लेकिन सर झुका कर नही सर उठा कर .

आरोप था उस पर, एक व्यक्ति के दोनो पैर और बाये हाथ के साथ साथ उसके पुरुषत्व को काटकर अपाहिज के साथ साथ नामर्द बनाने का. जज साहेब ने मुलजिमा से पूछा. क्या आप अपने ऊपर लगे ये आरोप कबूल करती है, या आप अपनी सफाई मे कुछ कहना चाहती हैं. जी योर ऑनर. मै अपने ऊपर लगे सारे आरोपो को कबूल करती हूं, उसने मेरे साथ बलात्कार किया इसलिए मैने उसको उसके कृत्य की ये सजा दी हैं.

लेकिन सजा देने का काम तो कानून का है, तुम्हारा नही तुम्हे कानून पर भरोसा रखना चाहिए था दीक्षा. जी योर ऑनर. कानून पर मै भी भरोसा करती थी, तभी आपके कानून पर भरोसा कर, सुनसान सड़क पर भी बेफिक्री के साथ घर के लिए अकेली निकल पड़ी थी. लेकिन उस बलात्कारी को, ना तो आपके कानून का ही डर था. और ना ही आपके कानून पर भरोसा, की वो उसे सजा दे पायेगा.

इन्हे भी पढ़े….

कड़वी बहु की कहानी मोटिवेशनल कहानी

जब हो गयी बेटी नाराज

गोलगप्पे की कहानी

हैरान कर देने वाली अध्भुत कहानी

सम्मान और प्यार की एक अद्भुत कहानी

शनि देव की हार

लक्ष्य की अनोखी कहानी

गर आपका कानून ये भरोसा पैदा कर पाता, की मुजरिम उससे किसी भी हाल मे बच नही पाता है. अपने जुर्म की वो भयानक सजा हर हाल मे पाता है, तो शायद फिर वो ऐसा भयानक जुर्म करने की हिम्मत ही ना कर पाता और चलो फिर एक बार मान भी लेती हूं, योर ऑनर की कानून उसे सजा भी दे देता. तो कितने बरस बाद, और कितनी सात बरस या बीस बरस या फिर मौत. मौत देकर तो पल मे आप उसे मुक्त कर देंगे.

लेकिन इसके घिनौने कृत्य से तो, मुझको तो हरपल घुट घुट कर, अपनी और गैरो की चुभती नजरो से नर्क की जिन्दगी जिनी पड़ेगी ना, जबकि वो तो एक ही पल मे मुक्त हो जायेगा, गर आपने उसे मौत की सजा दे दी तो. या फिर कारावास से आपकी दी सजा पूरी कर, एक दिन वो छूट ही जायेगा.

इन्हे भी पढ़े….

शैतानी आत्मा की सच्ची कहानी

सुजेल की अनहोनी दास्ताँ

पत्नी की भटकती आत्मा

खुनी जंगल की दास्ताँ

एक खतरनाक भेड़िये की कहानी

चुड़ैल और डायन का रहस्य

मौत उगलने वाला कुआ

लेकिन अब मेरी दी इस सजा के बाद. अपने कृत्य को रो रोकर वो. याद कर कर के खुद को कोसेगा. और घीसट घीसट कर जिन्दगी जियेगा नर्क से भी बदतर. काट तो मै इसके दोनो हाथ ही देती पर मै चाहती थी की, ये नर्क की जिल्लत भरी जिंदगी बहुत लंबी जिये, और इसे देखकर दूसरे लोग भी भयानक सबक ले ऐसे घिनौने कृत्यो से. आशा करता हु की आपको ये छोटी सी कहानी बहुत पसंद आयी होगी और साथ ही आपको कोई न कोई सीख जरूर मिली होगी. धन्यवाद्

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!