टरकिश स्नान से होने वाले फायदे

टरकिश स्नान से होने वाले फायदे tarkish bath ke fayde, kya aap jante hai

इस स्नान से हमारे शरीर की सभी ब्लॉकेज नसे पूरी तरह से खुल जाती है और साथ ही लगभग ज्यादातर बीमारिया भी दूर हो जाती है. इसलिए ये स्नान हमे साल में कम से कम दो से तीन बार ले लेना चाहिए, बिना किसी बीमारी के.

टरकिश स्नान की विधि Tarkish bath ki vidhi

  1. इस स्नान के लिए एक विशेष प्रकार का स्नान घर होता है.
  2. जिसे स्नान के लिए बनाया गया होता है.
  3. यह स्नान घर चारों ओर से बन्द होता है ताकि कमरे में बाहर से हवा आने का कोई रास्ता न हो.
  4. यह घर पुराने ढंग से संगमरमर का बना हुआ है.
  5. इस घर में एक छोटा तालाब होता है, जिसका फर्श संगमरमर से बना होता है.
  6. टरकिश स्नान के लिए कमरे की छत कांच की बनी होती है और कमरे की छत गुम्बदाकार होती है.
  7. इसकी दीवार खोखली होती है जिससे पानी गर्म करने पर भाप कमरे में भर जाती है.
  8. स्नान के लिए 3 कमरे बने होते हैं और प्रत्येक कमरे का तापमान अलग-अलग होता है.
  9. व्यक्ति को 1-1 करके तीनों कमरों में पहुंचकर स्नान कराया जाता है.

टरकिश स्नान करने का प्रक्रिया Tarkish bath karne ka process

  1. स्नान के लिए पहले कपड़े उतारकर एक अंगोछा लपेटकर स्नान वाले कमरे में पहुंचा जाता है. जहां एकांत व शांत वातावरण में बैठकर फव्वारे से निकलने वाले पानी से नहाया जाता है.
  2. इस कमरे के चारों ओर और भी कई कमरे होते हैं जिसमें कपड़े बदले जाते हैं. इस कमरे का तापमान 120 से 150 फारेनहाइट तक होता है.
  3. इस कमरे में जाते ही शरीर से पसीना निकलने लगता है. यदि कमरे में बैठने से पसीना धीरे-धीरे आए तो रोगी को बेचैनी सी आती है, चमड़ी जलने लगती है, दिल की धड़कन बढ़ जाती है, सिर का दर्द आदि उत्पन्न होता है. ऐसा तब होता है जब आप उसमें से पानी की एक घूंट पी लेते हैं.
  4. इस तरह जब आप में कमरे की गर्मी को सहन करने की शक्ति आ जाए तो फिर आप ऐसे ही दूसरे कमरे में पहुंच जाएंगे.
  5. इस कमरे की गर्मी बर्दाश्त करने के बाद एक तीसरे कमरे में जाएंगे. इस कमरे का तापमान 150 से 210 फारेनहाइट तक होता है. इस कमरे में मोटे चमड़े के स्लीपर पैर में पहनना पड़ते हैं क्योंकि अधिक गर्मी के कारण पत्थर गर्म हो जाता है और उस पर नंगे पैर चलना कठिन होता है.
  6. इस कमरे में थोड़ी देर रहने पर शरीर से पसीना निकलने लगता है. जब पसीना आने लगे तो फिर बीच वाले कमरे में जाएं और उस कमरे के फर्श पर लेट जाएं.
  7. इस कमरे में एक व्यक्ति आकर आपके शरीर की पैरों से अच्छी तरह मालिश करेगा और गर्म पानी की धार एड़ी से गर्दन तक डालेगा.
  8. फिर साबुन और गर्म पानी से खूब मल-मलकर नहाया जाएगा. इसके बाद घोडे़ के बालों के दस्ताने से आपकी चमड़ी को रगड़-रगड़कर धोया जाएगा.
  9. इसके बाद एक और व्यक्ति आएगा और आपके दोनों हाथ और पैर पकड़कर तेजी से पूरे शरीर की नस-नस को तोड़-मरोड़ करके फटाफट मलना शुरू करेगा.
  10. इस क्रिया को लगभग 30 मिनट तक किया जाएगा और बीच-बीच में हल्के तेल का हाथ भी चुपड़ा जाएगा.
  11. इससे नस-नस खुल जाएगी.
  12. अंत में इस क्रिया का ठंडे पानी द्वारा अंत किया जाएगा.
  13. इसके बाद शरीर को सूखे तौलिये से पोंछकर सूखे कपड़े पहनाकर आधा घंटा आराम करने को छोड़ दिया जाएगा.
  14. यदि कोई रोग न हो तो इस स्नान को साल में 3-4 बार से अधिक नहीं करना चाहिए.
  15. यह एक असाधारण स्नान है. इससे शरीर की नस-नस पर असर होता है.
  16. यदि स्नान के बाद सिरदर्द, कमजोरी और सुस्ती आने लगे तो समझना चाहिए कि स्नान अधिक हुआ है, जिसका प्रभाव आंतरिक अंगों के भीतर हुआ है.
  17. इस स्नान में सबसे कठिन स्नान तीसरे कमरे में स्नान करना और अधिक देर तक स्नान करने के बाद अंत में ठंडे पानी के फव्वारे के नीचे बैठना है.
  18. उसके बाद वह स्नान आता है, जिसको बीच के कमरे में जिसकी गर्मी 140 फारेनहाइट होती है उसमें किया जाता है.
  19. इस कमरे में पसीना आने के बाद ठंडे पानी के तालाब में गोता लगाया जाता है.

हम ये बिलकुल भी नहीं चाहेंगे की आपको किसी भी तरह की कोई भी परेशानी हो, इसलिए हम आपको सदा ही ऐसे घरेलु उचार देना चाहेंगे , जो की आपको अत्यधिक लाभ दे. ताकि आप एलोपेथी दवाईयों का इस्तेमाल कम से कम करे. क्योकि एलोपेथी दवाईयां हमारी बीमारी को तो ठीक कर देती है लेकिन ये हमारे शरीर को काफी मात्रा मैं नुकसान भी पहुँचती है. इसलिए हमे इन दवाइयों को ज्यादा से ज्यादा अवाइएड करना चाहिए यानि की कम से कम ही इन्हे खाना चाहिए.

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताती गयी जानकारी किसी लगी हमे जरूर बताये. ताकि हम आपको अधिक से अधिक जानकारिया उपलब्ध कराये. ये जो उपचार हमने आपको बताये है, ये आपके लिए काफी फायदेमंद है, लेकिन हम आपसे ये अनुरोध करते है की जो कुछ भी जानकारी हमने आपको दी है. उसे अपनी लाइफ मैं इस्तेमाल करने से पहले कम से कम एक बार हम ये चाहेंगे की आप अपने डॉक्टर की सलहा जरूर ले.

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!