दांतो की सफाई करने के तरीके हिंदी में

दांतो की सफाई करने के तरीके हिंदी में, danto ki care in hindi

दोस्तों हमे अपने दांतो को हमेशा ही तंदरुस्त रखना चाहिए, क्योकि अगर दन्त मजबूत है तो आप सम्पूर्ण जीवन अच्छा और टिकाऊ खाना खा सकते है. यानि की आप सभी प्रकार के खानो का मजा ले सकते है. दांतो की सैफई और इन्हे स्वस्थ रखने के लिए हमे बहुत कुछ करना पड़ता है. दांत ना सिर्फ हमारे स्वास्थ्ये को प्रभावित करते हैं, बल्कि हमारे लुक को भी प्रभावित करते हैं, इसलिए दांतों की समस्याओं को नज़रअंदाज़ ना करें.

दांतों की स्वच्छता का मतलब और तरीका हर किसी के लिए अलग होता है. हममें से अधिकतर लोग ब्रशिंग की कला बचपन में ही सीखते हैं और हैरानी की बात है कि ज्यादातर लोग ठीक प्रकार से ब्रश नहीं करते. चिकित्सकों की राय है कि प्रतिदिन ब्रश करने के बाद जीभ ज़रूर साफ करें. गाजि़याबाद के संतोष डेंटल कालेज की प्रोफेसर डाक्टर बिनीता का कहना है कि दिन में कम से कम दो बार ब्रश करना चाहिए और ब्रश करने के बाद नमक पानी से कुल्ला करना चाहिए या माउथवाश करना चाहिए. ब्रशिंग के सही तरीके से अवगत होना दांतों की सुरक्षा का पहला कदम है.

दांतों की सफाई के तरीके Danto ki clear ki terike

1. ब्रश करने के लिए कोई मानक समय नहीं है. लेकिन ऐसी सलाह दी जाती है कि कम से कम दो मिनट तक ब्रश करें जिससे मुंह के अंदर की सतह से प्लेकक के बैक्टीरिया निकल जायें. इससे दांतों की क्षति से भी बचाव हो सकेगा.

2. अगर 6 महीनों तक ब्रश करने के बाद भी आपका ब्रश खराब नहीं हुआ है, तब भी नया ब्रश खरीदने में देरी ना करें.

3. टूथब्रश अलग-अलग आकार, लम्बाई और गुणवत्ता के आते हैं. लेकिन डेंटिस्ट्स का ऐसा मानना है कि सही टूथब्रश की लम्बाई 25.5 से 31.9 मिलीमीटर होनी चाहिए और चौडा़ई 7.8 से 9.5 मिलीमीटर होनी चाहिए.

4. अगर आपके दांतों पर काले – भूरे धब्बे नजर रहे हैं, खाना दांतों में फंसने लगा है, ठंडा – गरम लग रहा है या मसूड़ों से पस आ रहा है, तो डेंटिस्ट़ से मिलने में देरी ना करें. निश्चित समयांतराल पर दंत चिकित्सक से मिलें.

हम ये बिलकुल भी नहीं चाहेंगे की आपको किसी भी तरह की कोई भी परेशानी हो, इसलिए हम आपको सदा ही ऐसे घरेलु उचार देना चाहेंगे , जो की आपको अत्यधिक लाभ दे. ताकि आप एलोपेथी दवाईयों का इस्तेमाल कम से कम करे. क्योकि एलोपेथी दवाईयां हमारी बीमारी को तो ठीक कर देती है लेकिन ये हमारे शरीर को काफी मात्रा मैं नुकसान भी पहुँचती है. इसलिए हमे इन दवाइयों को ज्यादा से ज्यादा अवाइएड करना चाहिए यानि की कम से कम ही इन्हे खाना चाहिए. तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताती गयी जानकारी किसी लगी हमे जरूर बताये.

ताकि हम आपको अधिक से अधिक जानकारिया उपलब्ध कराये. ये जो उपचार हमने आपको बताये है, ये आपके लिए काफी फायदेमंद है, लेकिन हम आपसे ये अनुरोध करते है की जो कुछ भी जानकारी हमने आपको दी है. उसे अपनी लाइफ मैं इस्तेमाल करने से पहले कम से कम एक बार हम ये चाहेंगे की आप अपने डॉक्टर की सलहा जरूर ले क्योकि हमे नहीं पता है की आपकी बॉडी यानी की आपका शरीर घरेलु उपचारो को अब्सॉर्वे करता है या नहीं करता है. इसलिए इन्हे प्रयोग करने से पहले एक बार अपने नजदीकी डॉक्टर की रॉय जरूर ले. धन्यवाद

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!