बनानी है मजबूत हड्डियाँ तो ले भरपूर कैल्शियम

बनानी है मजबूत हड्डियाँ तो ले भरपूर कैल्शियम Make strong bones, take plenty of calcium, bones ko majbut kaise kare

हमारे शरीर में 306 हड्डियाँ होती है. जिन्हे हर समय केल्सियम की जरूरत पड़ती है. हम सब लोग आज के दौर में जिम जाते है, वर्जिस करते है. जिस कारण से हमारी हड्डियाँ कमजोर होनी शुरू हो जाती है. तो हमे बपनी बोर्न को मजबूत करने के लिए केल्सियम की जरूरत पड़ती है. तो किस तरह से हम अपने गिरते हुए केल्सियम को बढ़ा सकते है. इसकी जानकारी हम आपको देने जा रहे है.

शरीर को मजबूत बनाये Sherir ko majbut banaye

loading...
  1. बच्चों को दिन में दो-तीन बार जबरन दूध पिलाने वाली आज की माताएँ जानती हैं कि कैल्शियम उसकी बढ़ती हड्डियों के लिए कितना जरूरी है.
  2. वहीं पुराने समय की या कम पढ़ी-लिखी ग्रामीण माताएँ भी इतना तो अवश्य जानती थीं कि दूध पीने से बच्चे का डील-डौल व कद बढ़ता है. यह बच्चे को चुस्त व बलिष्ठ भी बनाता है.
  3. भले ही उन्हें दूध में पाए जाने वाले अनमोल कैल्शियम का ज्ञान न हो, जो बच्चों की हड्डियों, दाँतों के स्वरूप, उनके आकार व उन्हें स्वस्थ व मजबूत बनाने में अति सहायक सिद्ध हुआ है.
  4. इसी कैल्शियम की निरंतर कमी के कारण बच्चों के दाँत, हड्डियाँ व शरीर कमजोर हो जाते हैं.
  5. आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में भी कैल्शियम का बड़ा महत्व है.
  6. कैल्शियम को कमजोर व पतली हड्डियों को मजबूत करने, दिल की कमजोरी, गुर्दे की पथरियों को नष्ट करने और महिलाओं के मासिक धर्म से संबंधित रोगों के उपचार में लाभकारी पाया गया है.

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

कैल्शियम तत्व ले Calcium tatv le

  1. गर्भवती व दूध पिलाने वाली महिलाओं के लिए 1200 मिलीग्राम.
  2. 6 मास से छोटे बच्चों के लिए 400 मिलीग्राम.
  3. 6 मास से 1 वर्ष के बच्चों के लिए 600 मिलीग्राम.
  4. 1 वर्ष से 10 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए 800 मिलीग्राम.
  5. 11 वर्ष से ऊपर सभी आयु वर्ग के लिए 1200 मिलीग्राम.

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

ये पदार्थ खाये Ye padarth khaye

  1. पनीर
  2. सूखी मछली
  3. राजमा
  4. दही
  5. गरी गोला
  6. सोयाबीन आदि.
  7. इसी प्रकार दूध एक गिलास (गाय) से 260 मिलीग्राम, दूध एक गिलास (भैंस) से 410 मिलीग्राम कैल्शियम मिलता है. प्रेशर कुकर में पकाए गए चावल, मोटे आटे की रोटी से हमें काफी कैल्शियम मिल सकता है.
  8. कैल्शियम उचित मात्रा में खाने से हमारी बुद्धि प्रखर होती है और तर्क शक्ति भी बढ़ती है. हरी पत्तेदार सब्जियों में भी यह तत्व पाया जाता है.

हम ये बिलकुल भी नहीं चाहेंगे की आपको किसी भी तरह की कोई भी परेशानी हो, इसलिए हम आपको सदा ही ऐसे घरेलु उचार देना चाहेंगे , जो की आपको अत्यधिक लाभ दे. ताकि आप एलोपेथी दवाईयों का इस्तेमाल कम से कम करे. क्योकि एलोपेथी दवाईयां हमारी बीमारी को तो ठीक कर देती है लेकिन ये हमारे शरीर को काफी मात्रा मैं नुकसान भी पहुँचती है. इसलिए हमे इन दवाइयों को ज्यादा से ज्यादा अवाइएड करना चाहिए यानि की कम से कम ही इन्हे खाना चाहिए. तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताती गयी जानकारी किसी लगी हमे जरूर बताये.

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

इन्हे भी जाने…. Kaan ya ears dard ka gherelu upchar

ताकि हम आपको अधिक से अधिक जानकारिया उपलब्ध कराये. ये जो उपचार हमने आपको बताये है, ये आपके लिए काफी फायदेमंद है, लेकिन हम आपसे ये अनुरोध करते है की जो कुछ भी जानकारी हमने आपको दी है. उसे अपनी लाइफ मैं इस्तेमाल करने से पहले कम से कम एक बार हम ये चाहेंगे की आप अपने डॉक्टर की सलहा जरूर ले क्योकि हमे नहीं पता है की आपकी बॉडी यानी की आपका शरीर घरेलु उपचारो को अब्सॉर्वे करता है या नहीं करता है. इसलिए इन्हे प्रयोग करने से पहले एक बार अपने नजदीकी डॉक्टर की रॉय जरूर ले.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!