बहरेपन का इलाज कैसे करें

बहरेपन का इलाज कैसे करें How to treat deafness, bhrepan ka ilaj kese kere

बहरापन एक बहुत ही बड़ी समस्या होती है. क्योकि भगवन ने हमे कानो को सुनने की शक्ति प्रदान की है और अगर इंसान सुन ही ना पाए , तो उसका जीवन निर्थक बन जाता है. वो किसी और के सहारे ही भाषा को समझता है और उसी भाषा पर निर्भर रहता है. इसलिए हमे इस समस्या को जल्द से जल्द दूर कर देना चाहिए. बहरापन एक गंभीर रोग है. इससे छुटकारा पाने के लिए तुरंत ही उपचार करना चाहिए. यह बीमारी कमजोर लोगों तथा असामान्य मस्तिष्क वाले व्यक्तियों को अधिक होती है. इस बीमारी होते ही उसके कारणों को जानकर ही उचित उपचार करना चाहिए.

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

बहरेपन होने के कारण bhrepan hone ke karan

बहरेपन होने के कई कारण हो सकते है, जिनमे से कुछ हम आपको बतायेगे. बहरेपन की बीमारी शारीरिक कमजोरी, स्नायु सम्बंधी गड़बड़ी तथा आंतों की खराबी के कारण होती है. वैसे सामान्यत: कान तथा मस्तिस्क में ठंड लगने, कान के पास तेज ध्वनि में बोलने, तीव्र बाजा बजने, सीटी की तीव्र आवाज, स्नायु की कमजोरी, स्नान करते समय कान में पानी चले जाने, कान में कड़ा मैल जमने, भीतरी परदे में चोट लगने, कान के बहने आदि के कारण कान से सुनाई देना बंद हो जाता है. कभी-कभी तेज दवा के प्रभाव से भी कान में बहरापन आ जाता है.

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

बहरेपन की पहचान कैसे करें bhrepan ki pahchan kese kere

बहरेपन की पहचान बहुत ही जरूरी होती है. बहरेपन के कारण सुनने की शक्ति क्षीण हो जाती है या फिर बिलकुल सुनाई नहीं देता. कान में हर समय सूं-सूं की आवाज आती रहती है. कभी-कभी रुक-रूककर आवाजें आने लगती हैं. जिस व्यक्ति के कान का ध्वनि परदा क्षतिग्रस्त हो गया हो, उसे चीखने-चिल्लाने की आवाज भी सुनाई नहीं देती.

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

इन्हे भी जाने…. Kaan ya ears dard ka gherelu upchar

बहरेपन को दूर करने के घरेलु नुस्खे bhrepan ko dur karne ke gharelu nuskhe

बहरेपन को हम इन नुस्खों से आसानी से दूर कर सकते है.

  1. तुलसी के पतों का रस सरसों के तेल में मिलाकर गरम करके कान में डालें.
  2. सरसों के तेल में थोड़े-से धनिया के दाने डालकर आग पर पकाएं. जब तेल जलकर आधा रह जाए तो उसे छानकर बूंद-बूंद कान में डालें.
  3. कान में सफेद प्याज के अर्क को दिन में तीन बार डालते रहें. दो-तीन माह के बाद बहरापन कम होने लगता है.
  4. एक चुटकी हीरा हींग लेकर बकरी, घोड़ी या गाय के दूध में अच्छी तरह मिलाकर कान में दो बार डालें.
  5. लहसुन की सात-आठ पूतियों को छीनकर 100 ग्राम तिली या सरसों के तेल में पकाएं. इस तेल को छानकर कांच की शीशी में भरकर रख लें. यह तेल बूंद-बूंदकर कान में डालें.
  6. सरसों के तेल में थोड़ा-सा मूली का रस मिलाकर कान में बूंद-बूंद डालने से बहरापन दूर होता है.
  7. बेल के पत्तों का रस चम्मच तथा अनार के पत्तों का रस एक चम्मच-दोनों को मिलाकर 100 ग्राम सरसों के तेल में पकाएं. जब तेल आधा रह जाए तो आंच पर से उतार-छानकर शीशी में रख लें. इस तेल को कान में नियमित रूप से डालें.
  8. कान के कुछ दिनों तक लगातार दालचीनी का तेल डालने से भी काफी लाभ होता है.
  9. फिटकिरी के फूले का चूर्ण सरसों के तेल में मिलाकर कान में डालें.

तो दोस्तों आपको हमारे द्वारा बताई गयी बहरेपन की समस्या को दूर करने के उपाए और नुस्खे कैसे लगे. हमे जरूर बताये और साथ ही ये भी बताये की आपको किस बिमारी के बारे मैं हमसे घरेलु उपचार की जरूररत है. ताकि हम जल्द से जल्द आपके सामने उस समस्या का हल आपको दे सके. साथ ही इन उपचारो को प्रयोग करने से पहले कम से कम एक बार डॉक्टर की सलहा जरूर ले.

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!