ब्लड कैंसर के कारण और इलाज

ब्लड कैंसर के कारण और इलाज Causes and cure for blood cancer, blood cancer ke reason aur ilaj

Health tips in hindi

दोस्तों आज हम आपको ब्लड कैंसर का घरेलु इलाज बतायेगे, क्योकि यदि आप एलोपेथी मेडिसिन पर निर्भर रहते है , तो आपको ये समस्या दोबारा भी हो सकती है. इसलिए आपको देशी यानि की घरेलु उपाय भी अपनाने चाहिए, क्योकि ये आपको लाइफ टाइम फायदा देंगे. अधिस्वेद रक्तता (ल्यूकेमिया) रक्त या अस्थि मज्जा (बोन मैरो) का कैंसर है. इसमें रक्त कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती है विशेषकर सफेद रक्त कोशिकाएं.

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

loading...

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

ब्लड कैंसर के लक्षण symptoms of blood cancer

ब्लड कैंसर होने के प्रमुख लक्षण इस प्रकार है.

  1. अत्यधिक खून बहना.
  2. अरक्तता (एनीमिआ).
  3. बुखार, जड़ाई, रात्रि स्वेद (नाइट स्वेट) और फ्लू जैसे अन्य लक्षण
  4. कमजोरी और थकान.
  5. भूख न लगना और/वजन कम होना.
  6. मसूड़ों में सूजन होना या उनसे खून निकलना.
  7. तंत्रकीय लक्षण (सिर दर्द).
  8. बढ़ा हुआ जिगर और प्लीहा(स्प्लीन).
  9. आसानी से खरोंच लगना और अक्सर संक्रमण होना.
  10. जोड़ों में दर्द.
  11. सूजा हुआ गलतुंडिका (टांसिल).

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

ब्रैस्ट कैंसर का इलाज breast cancer ka ilaj

महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर आम बात है. महिलाओं में कैंसर से मृत्यु इसका दूसरा कारण है. किसी महिला के जीवनकाल में ब्रैस्ट कैंसर का अधिकतम औसत 9 में 1 होता है.

ब्रैस्ट कैंसर का लक्षण symptoms of breast cancer

ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण इस प्रकार है.

  1. ब्रैस्ट में पिंड
  2. स्तनाग्र (निप्पल) से स्राव
  3. अंदर को धंसी स्तनाग्र
  4. लाल / सूजा स्तनाग्र
  5. स्तनों का बढ़ना
  6. स्तनों का सिकुंड़ना
  7. स्तनों का सख्त होना
  8. हड्डी में दर्द
  9. पीठ में दर्द

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

इन्हे भी जाने…. Kaan ya ears dard ka gherelu upchar

जोखिम कारक jokhim karak

  1. ब्रैस्ट कैंसर का पारिवारिक इतिहास.
  2. महिला की आयु बढ़ने के साथ साथ खतरा भी बढ़ता है.
  3. गर्भाशय कैंसर की कोई पूर्व घटना.
  4. पूर्व ब्रैस्ट कैंसर, विशेष परिवर्तन तथा पहले की ब्रैस्ट की बीमारी.
  5. आनुवांशिक खराबियां या परिवर्तन (बहुत कम अवसर).
  6. 12 वर्ष से कम आयु में मासिक धर्म आरंभ होना.
  7. 50 वर्ष की आयु के बाद रजोनवृत्ति.
  8. संतानहीन.
  9. शराब, अति वसायुक्त भोजन, अधिक रेशेदार भोजन
  10. धूम्रपान, मोटापा और पूर्व में गर्भाशय या कोलोन कैंसर.

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

घरेलु उपचार gharelu upchar

ब्रैस्ट कैंसर का उपचार तीन बातों पर निर्भर करता है.

  1. यदि महिला रजोनोवृत हो चुकी हो
  2. ब्रैस्ट कैंसर कितना फैल चुका है
  3. ब्रैस्ट कैंसर की कोशिकाओं का प्रकार.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!