मोटू और मोटी

मोटू और मोटी Motu aur Moti kids kahani in hindi

 

दोस्तों ये कहानी दो भाई बहन की है, जो की बहुत ही कॉमेडी है. आपको ये जरूर पढ़नी चाहिए, आपको बहुत ही अच्छी लगेगी. मोटू और मोटी दोनों भाई बहन थे. दोनों एक ही स्कूल में पढ़ते थे इसलिए एकसाथ आतेजाते थे. मोटू और मोटी के स्वभाव बिलकुल भिन्न थे. मोटी सीधी सादी थी, जबकि मोटू को घर में रखी चीजें खाने की बहुत बुरी आदत थी. बिस्कुट हो, पेस्ट्री हो , वह कुछ नहीं छोड़ता था. अकसर माँ उसे इस बात के लिए डाँटती भी थीं. पर उसपर इन बातों का कोई असर नहीं होता था. एक दिन गुस्से में आकर माँ ने उस अलमारी को ही ताला लगा दिया जिसमें बिस्कुट आदि चीजें रखीं हुई थीं. उस अलमारी में बिस्कुट आदि के अलावा दवाइयाँ व कुछ अन्य सामान भी रखा हुआ था. एक दिन मोटू और मोटी स्कूल से लौटे. मोटी की तबीयत आते ही कुछ खराब हो गई. पहले तो मोटू ने ध्यान नहीं दिया जब पर मोटी की तबीयत कुछ ज्यादा बिगड़ने लगी तो उसने माँ को आफिस फोन किया और उन्हें मोटी की बिगड़ती हुई तबीयत के बारे में बताया.

माँ बोलीं, मोटू लगता है मोटी को लू लग गई है. तुम अलमारी में रखे ग्लूकोस को घोलकर पिला दो, तब तक मैं डाक्टर को फोन करती हूँ. पर तुुम ग्लूकोस को घोल कर पिलाते रहना वरना मुश्किल हो जाएगी. मोटू जल्दी से रिसीवर रखकर अलमारी से ग्लूकोस निकालने के लिए ज्यों ही अलमारी के पास पहुँचा, देखा ताला लगा था. उसने इधर-उधर चाबी ढूँढी पर उसे कहीं न मिली. तब उसने फिर से माँ के ऑफिस फोन किया. माँ बोलीं, ओह बेटा, चाबी तो मेरे पास है. अब क्या होगा मां, मोटू फोन पर ही रो पड़ा, अब क्या करूँ? फिर रोते हुए मम्मीसे बोला, आपने अलमारी को ताला क्यों लगाया. आपको पता था कि उसमें ग्लूकोस है फिर. पर मोटू तुम्हें भी तो पता था कि उसमें बिस्कुट पड़े हैं जो तुम रोज चुपचुप खा जाते हो. न तुम बिस्कुट खाते न मैं ताला लगाती और न मोटी का इतना बुरा हाल होता. अच्छा, मैं डाक्टर को लेकर अभी आती हूँ. कह कर माँ ने रिसीवर रख दिया.

मोटू की हालत खराब! कभी वह मोटी को देखता तो कभी रोता.थोड़ी देर में माँ आ गई. आप अकेली आई हैं, माँ के घर में घुसते ही मोटू ने पूछा, आपको पता है मोटी की तबीयत कितनी खराब है. तभी अंदर से आवाज आई, मैं तो ठीक-ठाक हूँ भइया. अरे माँ के आते ही तू ठीक हो गई मेरी बहन, कहकर मोटू ने मोटी को गले से लगा लिया. अब मैं कभी चोरी नहीं करूँगा कभी नहीं , कहते हुए मोटू रो पड़ा. माँ ने मोटू और मोटी को गले से लगा लिया. असल में मोटी और माँ ने ही मिलकर मोटू को सबक सिखाने की योजना बनाई थी. दोस्तों आपको ये कॉमेडी कहानी किसी लगी, हमे जरूर बताये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!