वीराना मैं बस्ते है भूत

वीराना मैं बस्ते है भूत

Virana main baste hai bhoot real ghost stories in hindi

 

ये कहानी एक सुनसान पड़े वीराने की है जहा पर एक चुड़ैल का साया आज भी मंडराता रहता है. मेरा नाम मनोज है और मैं राजस्थान का रहने वाला हु. वीराना मतलब की एक ऐसा स्थान जहा पर ना तो कोई आता है और ना ही कोई जाता है. बस वो सुनसान ही पड़ा रहता है और जो स्थान सिनसन रहता है उस वीराने मैं बस्ते है भूत. केवल वही लोग आते जाते है जो की तंत्र मन्त्र मैं विस्वास रखते है क्योकि वो लोग भूत प्रेतों मैं विस्वास रखते है. आज मैं आपको एक ऐसी घटना बताने जा रहा हु जो की मेरे साथ ही घटित हुई है.

loading...

मैं जयपुर का रहने वाला हु और दिल्ली मैं पढता हु. जब मेरे कॉलेज की छुट्टिया पड़ती है तो मैं अपने घर चला जाता हु. मैंने सन 2015 मैं अपनी स्नातक परीक्षा पास करके अपने घर के लिए निकल पड़ा. ज्यादातर तो मैं ट्रैन से ही अपने घर जाता था लेकिन इस बार मैंने सोचा की क्यों ना मैं अपने कार से ही निकल जाओ जो की मैं अपने पास ही रखता था.

मैं शाम मैं लगभग 6 बजे के आस पास दिल्ली से जयपुर जाने के लिए निकल पड़ा. जयपुर आते आते मुझे रात हो गयी फिर भी मैं पूरी तरह से जयपुर मैं एंटर नहीं हुआ था, की अचानक से मेरी कार रस्ते मैं ही बंद हो गयी. वहा से जयपुर लगभग ५० किलोमीटर होगा. मैंने कार से बहार निकलकर देखा की दूर दूर तक कोई भी नज़र नहीं आ रहा था. बस दोनों ही और घना जंगल ही नज़र आ रहा था.

बस मुझे थोड़ी सी दूर देखने पर एक खंडहर जैसा कुछ दिखाई दिया. वह पर हलकी सी रोशनी नज़र आ रही थी, तो मैं उसकी और बढ़ गया. सोचा की सायद मुझे कोई मदद ही मिल जाएगी. क्योकि मेरी गाड़ी बिलकुल भी स्टार्ट नहीं हो रही थी. वो खंडहर सड़क से लगभग १ से २ किलोमीटर अंदर होगा. मैं डरता डरता उसकी और चल दिया. डर इसलिए लग रहा था की एक तो मेरे सात कोई था नहीं और दूसरा की जहा पर मई जा रहा हु कहि वह पर चोर या फिर कोई गलत इंसान न रहते हो.

मुझे वह जाने मैं लगभग 10 से 15 मिनट लगे होंगे. सबसे पहले मैंने वह जाकर आवाज लेगी की ” क्या कोई है यहां पर” , पर मुझे किसी भी तरह की कोई भी आवाज सुनाई नहीं दे रही थी. मैं दरवाजा खोल कर अंदर की और बढ़ गया. तो मैंने देखा की एक टेबल पर लालटेन राखी हुई जल रही जो की मुझे खिड़की से साफ़ नज़र आ रही थी.

यही वो रोशनी थी. मैं अपने मन ही मन मैं सोचने लगा की जब यहां पर कोई है नहीं तो फिर ये लालटेन आखिर किसने और क्यों जला राखी है . मैं थोड़ा सा डर गया. की अचानक से मुझे किसी औरत की पायल की आवाज सुनाई दी. छम छम छम छम…..

मैंने पीछे मुड़कर देखा तो कोई भी नज़र नहीं आया . अब तो मेरे हॉसो हवस ही ख़राब हो रहे थे. मैंने सोचा की मैं तुरंत ही अपनी गाड़ी की और निकल पड़ता हु और रात अपनी गाड़ी मैं ही गुजार लगा. लेकिन सायद मेरा ये सोचा बिलकुल ही गलत था. क्योकि जैसे ही मैं दरवाजे की तरफ मुदा की अचानक से दरवाजा ही बंद हो गया. मैंने काफी खोलने की कोसिस की पर वो मुझे से खुला ही नहीं.

मुझे फिर से छम छम छम छम , की आवाज सुनाई देने लगी , “मैंने जोर से कहा की कौन है यहां पर जो भी है वो सामने क्यों नहीं आ रहा है.” तो मुझे एक आवाज सुनाई दी, “आ जाऊ सामने” मैंने कहा हां तुम जो भी हो मरे सामने आ जाओ , तुम मुझे ऐसे क्यों डरा रहे हो. और तभी अचानक से मेरे सामने सफेद लिबास मैं एक औरत आकर खड़ी हो गयी.

मैं डर गया और मैंने पूछा की तुम कोंन हो और यहां पर क्या कर रही हो. तो उसने कहा की मेरा नाम ज्योति है और मैं पीछे के सालो से यही पर रहती हु. मैंने पूछा कितने सालो से ये तो स्थान खंडहर है भला यहां पर कोण रहे सकता है. तो उसने कहा की मैं यहां पर पिछले 1५० वर्षो से रह रही हु. मैंने उसका अभी तक भी चेहरा नहीं देखा था. की वो एक दम से मेरे नजदीक आ गयी तो मैंने देखा की उसका चेहरा सदा हुआ और गला हुआ भी था, मैं अचानक से चिल्लाया और बेहोस हो गया. जब मेरी आंख खुली तो मैं अपनी गाड़ी के पास ही पड़ा था और कुछ लोग मेरे पास खड़े थे. मुझ से पूछ रहे थे की मैं यहां पर क्या कर रहा हु.

तो मैंने उन्हें मुझ पर बीती सब बात बताई तो उन्होंने कहा की यहां पर कोई भी नहीं रहता है ये तो एक वीराना है झा पर भूत प्रेतों की आत्माये भटकती रहती है. सायद आपका सामना उनमे से ही किसी एक से हो गया होगा. बाबू जी अच्छा है की आपको कुछ हुआ नहीं , वर्ण वो आत्माये किसी को भी नहीं बेकस्ति है.

यहां पर आये दिन कोई ना कोई घटना होती ही रहती है. बस उस दिन के बाद से मैंने एकेले मैं गाड़ी से सफर करना ही बंद कर दिया है. जब भी जाता हु तो किसी ना किसी के साथ ही जाता हु. तो दोस्तों आज भी इस दूना मैं वीराने जैसी स्थान होते है झा पर की भूतो का वास आज भी मौजूद है.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!