सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए क्या करे

सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए क्या करे

Self confidence badhane ke liye kya kare

दोस्तों आज में आपको सेल्फ कॉन्फिडेंस को कैसे बढ़ाया जा सकता हैं, इसके बारे में आपको जानकारी दुगा, जो की आपके बहुत काम आएगी. इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता की जीवन में सफलता पाने के लिए सेल्फ कॉन्फिडेंस एक बेहद इम्पोर्टेन्ट क्वालिटी है . जीवन में किसी मुकाम पर पहुंच चुके हर एक व्यक्ति में आपको ये क्वालिटी दिख जाएगी , फिर चाहे वो कोई फिल्म स्टार हो , कोई क्रिकेटर आपके पड़ोस का कोई व्यक्ति , या आपको पढ़ाने वाला शिक्षक .

आत्मविश्वास एक ऐसा गुण है जो हर किसी में होता है , किसी में कम तो किसी में ज्यादा . पर ज़रुरत इस बात की है कि अपने प्रेजेंट लेवल ऑफ़ कॉन्फिडेंस को बढ़ा कर एक नए और बेहतर लेवल तक ले जाया जाये . और आज AKC पर मैं आपके साथ कुछ ऐसी ही बातें शेयर करूँगा जो आपके आत्म-विश्वास को बढाने में मददगार हो सकती हैं.

1. अपना कार्य समय पर पूरा करे

आप अपने दिनभर के कार्यो का टाइम टेबल बना ले.आपने एक दिन में क्या-क्या करना है वह पहले ही सोच ले और उसके बाद सुबह से ही अपने कार्यो को पूरा करने के लिए जुट जाए. अगर आप अपने works को निश्चित समय के अन्दर पूरा करते है तो यह आपके आत्मविश्वास को बहुत ही बढ़ा देगा.

इन्हे भी पढ़े….

कड़वी बहु की कहानी मोटिवेशनल कहानी

जब हो गयी बेटी नाराज

गोलगप्पे की कहानी

हैरान कर देने वाली अध्भुत कहानी

सम्मान और प्यार की एक अद्भुत कहानी

शनि देव की हार

लक्ष्य की अनोखी कहानी

2. विशेष मौकों पर विशेष तैयारी कीजिये

“सफलता के लिए आत्म-विश्वास आवश्यक है, और आत्म-विश्वास लिए तैयारी”-Arthur Ashe

जब कभी आपके सामने खुद को प्रूव करने का मौका हो तो उसका पूरा फायदा उठाइए . For example आप किसी डिबेट , क्विज , डांसिंग या सिंगिंग कम्पटीशन में हिस्सा ले रहे हों , कोई टेस्ट या एग्जाम दे रहे हो ,या आप कोई प्रेजेंटेशन दे रहे हों , या कोई प्रोग्राम ओर्गनइजे कर रहे हों . ऐसे हर एक मौके के लिए जी -जान से जुट जाइये और बस ये इन्सुरे करिए कि आपने तैयारी में कोई कमी नहीं रखी , अब रिजल्ट चाहे जो भी हो पर कोई आपकी प्रिपरेशन को लेकर आप पर ऊँगली ना उठा पाए.

प्रिपरेशन और सेल्फ कॉन्फिडेंस डायरेक्टली प्रोपोरशनल हैं . जितनी अच्छी तैयारी होगी उतना अच्छा आत्म -विश्वास होगा .और जब इस तैयारी की वजह से आप सफल होंगे तो ये जीत आपके life की सक्सेस स्टोरी में एक और चैप्टर बन जाएगी जिसे आप बार -बार पलट के पढ़ सकते हैं और अपना कॉन्फिडेंस बूस्ट कर सकते हैं .

3. डेली अपना MIT पूरा कीजिये

कुछ दिन पहले मैंने AKC पर MIT यानि मोस्ट इम्पोर्टेन्ट टास्क के बारे में लिखा था , यदि आपने इसे नहीं पढ़ा है तो ज़रूर पढ़िए . यदि आप अपना daily का MIT पूरा करते रहेंगे तो निश्चित रूप से आपका आत्म -विश्वास कुछ ही दिनों में बढ़ जायेगा . आप जब भी अपना MIT पूरा करें तो उसे एक छोटे सक्सेस के रूप में देखें और खुद को इस काम के लिए शाबाशी दें .रोज़ रोज़ लगातार अपने इम्पोर्टेन्ट टास्कस को सक्सेस्स्फुल्ली पूरा करते रहना शायद अपने कॉन्फिडेंस को बूस्ट करने का सबसे कारगर तरीका है .

आप इसे ज़रूर टॉय कीजिये. फ्रेंड्स , ये याद रखिये कि आपका कॉन्फिडेंस आपकी एजुकेशन , आपकी फाइनेंसियल कंडीशन या आपके लुक्स पर नहीं डिपेंड करता और आपकी इज़ाज़त के बिना कोई भी आपको इन्फीरियर नहीं फील करा सकता. आपका आत्म-विश्वास आपकी सफलता के लिए बेहद आवश्यक है,और आजआपका कॉन्फिडेंस चाहे जिस लेवल हो, अपने एफ्फोर्ट्स से आप उसे नयी ऊँचाइयों तक पहुंचा सकते हैं.

4. जो चीज आपका आत्मविश्वास घटाती हो उसे बार-बार कीजिये

कुछ लोग किसी ख़ास वजह से कॉंफिडेंट नहीं फील करते हैं . जैसे कि कुछ लोगों में स्टेज -फियर होता है तो कोई अपोजिट सेक्स के सामने नर्वस हो जाता है . यदि आप भी ऐसे किसी चैलेंज को फेस कर रहे हैं तो इसे बीट करिए . और बीट करने का सबसे अच्छा तरीका है कि जो एक्टिविटी आपको नर्वस करती है उसे इतनी बार कीजिये कि वो आप ताकत बन जाये . यकीन जानिए आपके इस प्रयास को भले ही शुरू में कुछ लोग लाइटली लें.

शायद मज़ाक भी उडाएं पर जब आप लगातार अपने एफ्फोर्ट्स में लगे रहेंगे तो वही लोग एक दिन आपके लिए खड़े होकर ताली बजायेंगे . गाँधी जी की कही एक लाइन मुझे हमेशा से बहुत प्रेरित करती रही है “पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे.” तो आप भी उन्हें इग्नोर करने दीजिये , हंसने दीजिये ,लड़ने दीजिये ,पर अंत में आप जीत जाइये . क्योंकि आप जीतने के लिए ही यहाँ हैं , हारने के लिए नहीं .

5. लौ कॉन्फिडेंस के लिए अंग्रेजी ना जानने का एक्सक्यूज़ मत दीजिये

हमारे देश में अंग्रेजी का वर्चस्व है . मैं भी अंग्रेजी का ज्ञान आवश्यक मानता हूँ ,पर सिर्फ इसलिए क्योंकि इसके ज्ञान से आप कई अच्छी पुस्तकें , ब्लॉग , etc पढ़ सकते हैं , आप एक से बढ़कर एक प्रोग्राम्स , मूवीज , इत्यादि देख सकते हैं . पर क्या इस भाषा का ज्ञान कॉंफिडेंट होने के लिए आवश्यक है , नहीं . इंग्लिश जानना आपको और भी कॉंफिडेंट बना सकता है पर ये कॉंफिडेंट होने के लिए ज़रूरी नहीं है . किसी भी भाषा का मकसद शब्दों में अपने विचारों को व्यक्त करना होता है , और अगर आप यही काम किसी और भाषा में कर सकते हैं तो आपके लिए अंग्रेजी जानने की बाध्यता नहीं है .

मैं मेरठ से हूँ , वहां के संसद योगी आदित्य नाथ को मैंने कभी अंग्रेजी में बोलते नहीं सुना है , पर उनके जैसा आत्मविश्वास से लबरेज़ नेता भी कम ही देखा है . इसी तरह मायावती , और मुलायम सिंह जैसे नेताओं में आत्मविश्वास कूट -कूट कर भरा है पर वो हमेशा हिंदी भाषा का ही प्रयोग करते हैं . दोस्तों, कुछ जगहों पर जैसे कि जॉब – इंटरव्यू में अंग्रेजी का ज्ञान आपके चयन के लिए ज़रूरी हो सकता है , पर कॉन्फिडेंस के लिए नहीं , आप बिना इंग्लिश जाने भी दुनिया के सबसे कॉंफिडेंट व्यक्ति बन सकते हैं .

6. गलतियाँ करने से मत डरिये

क्या आप ऐसे किसी व्यक्ति को जानते हो जिसने कभी गलती ना की हो ? नहीं जानते होंगे , क्योंकि गलतियाँ करना मनुष्य का स्वभाव है , और मैं कहूँगा कि जन्मसिद्ध अधिकार भी . आप अपने इस अधिकार का प्रयोग करिए . गलती करना गलत नहीं है ,उसे दोहराना गलत है . जब तक आप एक ही गलती बार -बार नहीं दोहराते तब तक दरअसल आप गलती करते ही नहीं आप तो एक प्रयास करते हैं और इससे होने वाले एक्सपीरियंस से कुछ ना कुछ सीखते हैं .

दोस्तों कई बार हमारे अन्दर वो सब कुछ होता है जो हमें किसी काम को करने के लिए होना चाहिए , पर फिर भी फेलियर के डर से हम कॉन्फिडेंटली उस काम को नहीं कर पाते . आप गलतियों के डर से डरिये मत , डरना तो उन्हें चाहिए जिनमे इस भय के कारण प्रयास करने की भी हिम्मत ना हो. आप जितने भी सफल लोगों का इतिहास उठा कर देख लीजिये उनकी सफलता की चका-चौंध में बहुत सारी असफलताएं भी छुपी होंगी .

मिचेल जॉर्डन , जो दुनिया के अब तक के सर्वश्रेष्ठ बास्केटबॉल प्लेयर माने जाते हैं; उनका कहना भी है कि , “मैं अपनी जिंदगी में बार-बार असफल हुआ हूँ और इसीलिए मैं सफल होता हूँ.” आप कुछ करने से हिचकिचाइए मत चाहे वो खड़े हो कर कोई सवाल करना हो , या फिर कई लोगों के सामने अपनी बात रखनी हो , आपकी जरा सी हिम्मत आपके आत्मविश्वास को कई गुना बढ़ा सकती है . सचमुच डर के आगे जीत है.

7. अपने अचीवमेंट्स को याद करिए

आपकी पास्ट अचीवमेंट्स आपको कॉंफिडेंट फील करने में हेल्प करेंगी . ये छोटी -बड़ी कोई भी अचीवमेंट्स हो सकती हैं . फॉर एक्साम्प्ले – आप कभी क्लास में फर्स्ट आये हों , किसी सब्जेक्ट में स्कूल टॉप किया हो , सिंगिंग कम्पलीशन या स्पोर्ट्स में कोई जीत हांसिल की हो , कोई बड़ा टारगेट अचीव किया हो , एम्प्लोयी ऑफ़ थे मंथ रहे हों . कोई भी ऐसी चीज जो आपको अच्छा फील कराये . आप इन अचीवमेंट्स को डेरी में लिख सकते हैं , और इन्हें कभी भी देख सकते हैं.

ख़ास तौर पे तब जब आप अपना कॉन्फिडेंस बूस्ट करना चाहते हैं .इससे भी अच्छा तरीका है कि आप इन अचीवमेंट्स से रिलेटेड कुछ इमेजेज अपने दिमाग में बना लें और उन्हें जोड़कर एक छोटी सी मूवी बना लें और समय समय पर इस अपने दिमाग में प्ले करते रहे . डेफिनिटेली ये आपके कॉन्फिडेंस को बूस्ट करने में मदद करेगा .

8. विसुअलिज़े करिए कि आप कॉंफिडेंट हैं

आपकी प्रबल सोच हकीकतबनने का रास्ता खोज लेती है , इसलिए आप हर रोज़ खुद को एक कॉंफिडेंट पर्सन के रूप में सोचिये . आप कोई भी कल्पना कर सकते हैं , जैसे कि आप किसी स्टेज पर खड़े होकर हजारों लोगों के सामने कोई भाषण दे रहे हैं , या किसी सेमिनार हाल में कोई शानदार प्रेजेंटेशन दे रहे हैं.

सभी लोग आपसे काफी प्रभावित हैं , आपकी हर तरफ तारीफ हो रही है और लोग तालियाँ बजा कर आपका अभिवादन कर रहे हैं . अल्बर्ट आइंस्टीन ने भी इमेजिनेशन को नॉलेज से अधिक पावरफुल बताया है ; और आप इस पावर का उसे कर के बड़े से बड़ा काम कर सकते हैं .

9. ड्रेसिंग सेंस इम्प्रूव कीजिये

आप किस तरह से ड्रेस -उप होते हैं इसका असर आपके कॉन्फिडेंस पर पड़ता है . ये बता दूँ कि यहाँ मैं अपने जैसे आम लोगों की बात कर रहा हूँ , स्वामी विवेकानंद और महात्मा गाँधी जैसे महापुरुषों का इससे कोई लेना देना नहीं है , और यदि आप इस केटेगरी में आते हैं तो आपका भी. मैंने खुद इस बात को फील किया है , जब मैं अपनी बेस्ट अत्तिरे में होता हूँ तो ऑटोमेटिकली मेरा कॉन्फिडेंस बढ़ जाता है , इसीलिए जब कभी कोई प्रेजेंटेशन या इंटरव्यू होता है तो मैं बहुत अच्छे से तैयार होता हूँ .

दरअसल अच्छा दिखना आपको लोगों को फेस करने का कॉन्फिडेंस देता है और उसके उलट पूर्ली ड्रेस उप होने पे आप बहुत कॉन्ससियस रहते हैं . मैंने कहीं एक लाइन पढ़ी थी ,” आप कपड़ों पे जितना खर्च करते हैं उतना ही करें , लेकिन जितनी कपडे खरीदते हैं उसके आधे ही खरीदें ” . आप भी इसे अपना सकते हैं.

इन्हे भी पढ़े….

शैतानी आत्मा की सच्ची कहानी

सुजेल की अनहोनी दास्ताँ

पत्नी की भटकती आत्मा

खुनी जंगल की दास्ताँ

एक खतरनाक भेड़िये की कहानी

चुड़ैल और डायन का रहस्य

मौत उगलने वाला कुआ

10. किसी एक चीज में अधिकतर लोगों से बेहतर बनिए

हर कोई हर फील्ड में एक्सपर्ट नहीं बन सकता है , लेकिन वो अपने इंटरेस्ट के हिसाब से एक -दो एरियाज चुन सकता है जिसमे वो औरों से बेहतर बन सकता है . जब मैं स्कूल में था तो बहुत से स्टूडेंट्स मुझसे पढाई और अन्य चीजों में अच्छे थे , पर मैं ज्योमेट्री में क्लास में सबसे अच्छा था (थैंक्स तो पापा ), और इसी वजह से मैं बहुत कॉंफिडेंट फील करता था . और आज मैं AKC को world’s most read Hindi Blog बना कर कॉंफिडेंट फील करता हूँ .

अगर आप किसी एक चीज में महारथ हांसिल कर लेंगे तो वो आपको in-general confident बना देगा . बस आपको अपने इंटरेस्ट के हिसाब से कोई चीज चुननी होगी और उसमे अपने सर्किल में बेस्ट बनना होगा , आपका सर्किल आप पर डिपेंड करता है , वो आपका स्कूल ,कॉलेज , आपकी कॉलोनी या आपका शहर हो सकता है .

11. वो करिए जो कॉंफिडेंट लोग करते हैं

आपके आस पास ऐसे लोग ज़रूर दिखेंगे जिन्हें देखकर आपको लगता होगा कि ये व्यक्ति बहुत कॉंफिडेंट है. आप ऐसे लोगों को ध्यान से देखिये और उनकी कुछ एक्टिविटीज को अपनी लाइफ में इन्क्लुडे करिए.

तो दोस्तों किसी लगी आपको ये हमारी कॉन्फिडेंस बढ़ाने वाली पोस्ट. इसके बारे में हमे जरूर कमेंट करे. धन्यवाद्

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!