स्तन में जब दूध की मात्रा बढ़ जाये तो क्या करें

स्तन में जब दूध की मात्रा बढ़ जाये तो क्या करें mahila ke rog aur ilaj hindi me

दरअसल होता क्या है की कभी कभी बच्चा सही मात्रा में दूध का सेवन नाहगी करता है यानी की स्तनों में दूध काफी हद तक छोड़ देता है, जिस कारण से बचा हुआ दूध ना तो पूरी तरह से ही सुख पाता है और ना ही उसका लेवल कम ही हो पाता है.

जिस कारण से स्तनों में बीमारी हो जाती है. लेकिन ऐसा नहीं है की इस समस्या का इलाज ना हो , इसका इलाज भी सम्भव है. जिस के बारे में निचे जानकारी दी गयी है.

दूध की मात्रा बढ़ जाने का इलाज Dudh ki matra badh jane ka ilaj

1.कपूर

कपूर को पीसकर पेस्ट बना लें, फिर इसी पेस्ट का लेप स्तनों पर लगाने से और एक चौथाई ग्राम तक सेवन करने से स्त्रियों के स्तनों का रुका दूध सूख जाता है.

2.गिलोय

गिलोय या गुरुच को पकाकर काढ़ा बनाकर बच्चे की माता को पिलाने से स्तनों की शुद्ध होती है.

3.पान

पान के पत्तों को हल्का-सा गर्म करके स्तनों पर बांधने से अधिक दूध के कारण स्तनों पर आने वाली सूजन समाप्त हो जाती है.

4.धतूरा

धतूरे के पत्तों को हरिद्रा में मिलाकर स्तनों पर बांधने से स्तन में आने वाली सूजन मिट जाती है. धतूरे के पत्तों को गर्म करके स्तनों पर बांधने से स्तनों का बढ़ा दूध धीरे-धीरे करके सूखने लगता है.

5.नरकट

नरकट (नरसल) की जड़ को पीसकर काढ़ा बनाकर 40 ग्राम की मात्रा में प्रतिदिन 3 बार खुराक के रूप में सेवन करने से दूध का बहना और कम माहवारी का आना वंद हो जाता है.

इन्हे भी जाने…. पिंपल्स को हटाने के घरेलू नुश्खे

इन्हे भी जाने…. गंजेपन का इलाज या गंजेपन रोकने के उपाय

इन्हे भी जाने…. थाईरायड ग्रथि से सम्बंधित रोग

इन्हे भी जाने…. शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. प्रेगनेंसी मैं कोंन सी एक्सरसाइज करे

इन्हे भी जाने…. Kaan ya ears dard ka gherelu upchar

6.मोगरा

मोगरा (मोतिया बेला) के फूलों को अच्छी तरह से पीसकर बच्चे को जन्म देने वाली माता के स्तनों पर बांधने से स्तनों की सूजन और दूध का बहना वंद हो जाता है.

7.अरहर

अरहर (रहरी, शहर) के पत्तों और दालों को एक साथ पीसकर हल्का-सा गर्म करके स्तनों पर लगाने से दूध रूक जाता है. अरहर की दाल को पीसकर लेप की भांति स्तनों पर लगाने से स्तनों में आई सूजन नष्ट हो जाती है.

8.मसूर

मसूर, काहू के बीज और जीरा को सिरके में मिलाकर पीसकर स्त्री के स्तनों पर लेप करने से दूध कम हो जाता है. नोट: इसका सेवन उन्हीं माताओं को कराना चाहिए, जिनके बच्चे स्तनों के पूरे दूध को पी नहीं पाते हैं.

9.सौंफ

साफ सौंफ 250 ग्राम, चीनी (शक्कर) 250 ग्राम और 250 ग्राम शतावर को मिलाकर चूर्ण बना लें, फिर इसे 10 से 15 ग्राम तक गर्म दूध में डालकर दिन में 3-3 घण्टे के बाद 2 बार पीने से स्तनों में दूध की वृद्धि होती है.

इन्हे भी जाने…. सुंदरता पाने के घरेलू उपचार

इन्हे भी जाने…. सांवली त्वचा निखारने के घरेलू नुस्खे

इन्हे भी जाने…. रोके अपनी बढ़ती हुई उम्र की रफ़्तार को

इन्हे भी जाने…. नाखूनों को सुंदर बनाने के घरेलू उपचार और उपाय

loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!