Category: MAHILAO KE ROG AUR ILAJ

गर्भाशय के रोगो की जानकारी हिंदी

गर्भाशय के रोगो की जानकारी हिंदी garbhasy ke rogo ki jankari hindi हम आपको गर्भाशय से सम्बंधित रोगो की जानकारी देंगे, जिससे की आपको अत्यधिक लाभ प्राप्त होगा. इसमें कई तरह के रोग होते हैं. जैसे गर्भाशय का मुंह बंद होना, ट्यूमर होना, गर्भाशय का ढीला होना, गर्भाशय का बाहर आ जाना और गर्भाशय से

गर्भाशय में सूजन का इलाज कैसे करें

गर्भाशय में सूजन का इलाज कैसे करें garbhashay ki sujan kaise kam kare mahila ke rog aur ilaj महिलाओ को प्रेगनेंसी के दौरान गर्भाशय में कभी कभी सूजन होने की समस्या आ जाती है, तो इसके लिए ये जरुरी नहीं होता है की आप मेडिसिन ही ले. आप घरेलु प्रोडक्ट के माध्यम से भी इस

गर्भकाल के रोगो की चिकित्सा

गर्भकाल के रोगो की चिकित्सा garbhkal ke rogo ka upchar mahila rog ka ilaj कौन कौन से दवाइयाँ प्रेगनेंसी के समय काम मैं आती है, वो आज हम आपको बतायेगे. क्योकि इनका ज्ञान होना आपके लिए बहुत ही जरूरी होता है. गर्भकाल के समय मैं रोगो को दूर करने के लिए दवाइयाँ medicine for pregnant

गर्भ में मरे हुए बच्चे के दोष को कैसे दूर करें

गर्भ में मरे हुए बच्चे के दोष को कैसे दूर करें garbh me mere hue bacche ke dosh ko kese dur kere कभी कभी महिला का बच्चा गर्भ में ही यानी की जन्म से पहले ही मर जाता है, तो मरे हुए बच्चे के कारण गर्भ में दोष उत्पन्न हो जाते है. यानि की गर्भ

पेशाब में संक्रमण की समस्या

पेशाब में संक्रमण की समस्या pesab me sankrman ki samasya कभी कभी ऐसा होता है की जब आप पेशाब करते है तो वो रुक रुक कर आता है और साथ ही साथ हल्का सा दर्द भी महसूस होता ही. इसी समस्या को हम मूत्रपथ संक्रमण का नाम देते है. इसका निवारण समय रहते कर लेना

गर्भ की रक्षा कैसे करें

गर्भ की रक्षा कैसे करें garbh ki raksha kese kere mahila garbh ki samasya अपने गर्भ को किस तरह से ठीक रखा जाता है , वो आज हम आपको इस कंटेंट के माध्यम से बतलायेंगे. क्योकि बहुत सी महिलाये ऐसी भी होती है. जो की अपने शरीर की ठीक तरह से देख भल नहीं करती

दूर करें अपनी पीड़ादायक महावारी की समस्या को

दूर करें अपनी पीड़ादायक महावारी की समस्या को mahwari ki samasya in hindi mahila ke rog aur ilaj पीड़ादायक माहवारी को कैसे दूर या फिर कम किया जाता है, इसके बारे में हम आपको सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करायेगे. पीड़ा दायक माहवारी मे निचले उदर में ऐंठनभरी पीड़ा होती है. किसी औरत को तेज दर्द हो

स्तन में जब दूध की मात्रा बढ़ जाये तो क्या करें

स्तन में जब दूध की मात्रा बढ़ जाये तो क्या करें mahila ke rog aur ilaj hindi me दरअसल होता क्या है की कभी कभी बच्चा सही मात्रा में दूध का सेवन नाहगी करता है यानी की स्तनों में दूध काफी हद तक छोड़ देता है, जिस कारण से बचा हुआ दूध ना तो पूरी

डिम्बकोष के रोग

डिम्बकोष के रोग dimbkosh ke rog mahila rog ka ilaj महिलाओ में होने वाले डिम्बकोष के रोगो के बारे में पूरी जानकारी देंगे. क्युकी कभी कभी इनमे भी बीमारी हो जाती है. इसलिए इनका इलाज होना बहुत ही जरूरी होता है. 1.डिम्बकोष का अपने स्थान से हट जाना डिम्बकोष के अपने स्थान से हट जाने

डिम्ब-ग्रंथियों की जलन के लक्षण

डिम्ब ग्रंथियों की जलन के कारण और इलाज dimb granthiyo ki jalan ke karan aur ilaj mahila ke rog aur ilaj डिम्ब ग्रंथियों की जलन का इलाज आपको तुरंत ही कर लेना चाहिए. क्योकि यदि ये रोग बढ़ जाये , तो आपको बहुत ही ज्यादा समस्या हो सकती है. इसलिए आज हम आपको कुछ मेडिसिन

बच्चे के जन्म के बाद स्तनों के रोग

बच्चे के जन्म के बाद स्तनों के रोग child born ke baad breast ke rog mahilao ke rog aur ilaj hindi me जब महिला बच्चो को जन्म देती है , तो उन्हें कई प्रकार की परेशानिया झेलनी पड़ती है. जिस कारण बोर्न बच्चे को माँ का दूध नहीं मिल पता है. इसलिए उन्हें अपने स्तनों

महिलाओं के स्तनों मैं फोड़ो की समस्या

महिलाओं के स्तनों मैं फोड़ो की समस्या breast me dard ki samasya फंसे फोड़े तो ज्यादातर सभी को होते रहते है, लेकिन यदि ये समस्या महिलाओं को उनके स्तनों मैं हो जाये, तो ये गंभीर रूप ले सकती है. इसलिए यदि महिलाओ को उनके स्तनों मैं किसी भी प्रकार की फुंसी या फोड़ो की समस्या

ब्रैस्ट की देखभाल कैसे करे

ब्रैस्ट की देखभाल कैसे करे breast ki dekhbhal kaise kare ब्रैस्ट नारी की सौंदर्यता को बढ़ता है, इसकी देखभाल हर नारी को करनी चाहिए. ब्रैस्ट में भी कई तरह की बीमारिया हो सकती है. सबसे पहले तो आपको में ये जानकारी देना चाहुगा की जब कोई महिला माँ बनती है. तो वो इसी (ब्रैस्ट) के
error: Content is protected !!